आयुष्मान खुराना ने बताया अपनी दादी को अपना संगीत का गुरु

बॉलीवुड के जाने माने अभिनेता एवं संगीत का आयुष्मान खुराना किसी परिचय के मोहताज नहीं है बरेली की बर्फी, बधाई हो, खाली पीली, चंडीगढ़ करे आशिकी, जैसी बेहतरीन फिल्मों में काम किया है आसमान खुराना जितने अच्छे अभिनेता हैं

उतने ही अच्छे संगीतकार भी हैं इन्होंने पानी दा रंग, मिट्टी दी खुशबू ,एक वारी जैसे बेहतरीन सुपरहिट गाने भी गाए हैं उन्होंने हाल ही में मीडिया को एक इंटरव्यू देते हुए बताया कि उनको संगीतकार बनने की प्रेरणा उनकी दादी से मिली है

आयुष्मान बताया कि मैं बचपन से ही संगीत को बेहद मजे से सुना करता था हमारे घर में वीभिन्न प्रकार के संगीत सुने जाते थे हमारे घर में दादी को संगीत से सबसे ज्यादा लगाव था उन्होंने बताया कि उनका बचपन 80 और 90 के दशक के फिल्मी गाने को सुनते हुए गुजरा है वो हमेशा ही अच्छे और नए गाने की तलाश में रहते थे

आयुष्मान ने यह भी बताया कि उनकी दादी गुरुद्वारे में गाती थी तथा उनको गाने का अच्छा ज्ञान था उन्होंने दादी से संगीत की बारीकियां सीखी आयुष्मान अपनी दादी के साथ मिलकर 90 के सदाबहार गाने और गजलें सुना करते थे

आयुष्मान ने बताया बचपन का दिलचस्प किस्सा

आयुष्मान ने बताया कि 1988 के दशक में उनके पिताजी ने एक कार खरीदी थी जिसमें बैठकर उनका पूरा परिवार पूरी रात गुलाम अली की गजलें गजले सुनी थी जो कि उनका पसंदीदा सिंगर थे लेकिन सुबह तक कार की बैटरी पूरी तरह से खत्म हो गई और उसको दोबारा शोरूम ले जाना पड़ा

वर्तमान में आयुष्मान अपनी फिल्म डॉक्टर डी और द एक्शन हीरो की शूटिंग में व्यस्त हैं फिलहाल दोनों फिल्मों की रिलीज डेट अभी नहीं तय हुई है लेकिन अनुमान लगाया जा रहा है कि फिल्म 2022 के अंत तक रिलीज होगी देखते हैं रिलीज डेट क्या निकलती है

आखिरी शब्द

ये आर्टिकल आपको कैसा लगा हमें कमेंट करके जरूर बताएं और हमारे लिए कोई सुझाव हो तो हमसे जरूर शेयर करें धन्यवाद

Leave a Comment